लोधीखेडा शहर छिन्दवाडा जिले की तहसील सौंसर के अंन्तर्गत स्थित है। नगर परिषद का उत्कृष्ठ स्थान है। नगर परिषद लोधीखेडा की स्थापना 5/9/1984 को हुई है। नगर परिषद ने अपनी स्थापना से लेकर वर्तमान तक अधिकांष विकास कार्य किये है। जिसमें नगर परिषद के शहरीकरण से लेकर नगर परिषद के आर्थिक सुद्ढीकरण तक। वर्तमान लोधीखेडा नगर परिषद का जिले में एक मुख्य स्थान है। जो जाम नदी के समीप स्थित है। वर्तमान नगर परिषद लोधीखेडा की जनसंख्या 2011 की जनगणना नुसार 9950 है। जिसमें से पुरूष 5068 तथा महिलाओ की आबादी 4882 है। नगर पालिका क्षेत्र मे भिन्न - भिन्न प्रकार के शासकिय कार्यालय तथा अषासकिय कार्यालय आते है।

जैसे स्कुल एवं काॅलेज एवं अन्य कार्यालय है। लोधीखेडा नगर परिषद क्षेत्र में विभिन्न जाति एवं धर्म के लोग निवास करते है। जैसे हिन्दु,मुस्लीम,ईसाई,बोद्ध आदि साथ ही विभिन्न बोलीयां क्षेत्रियता के आधार पर बोली जाति मराठी, हिन्दी, कोष्टी, गोंडी आदि भाषाए बोली जाती है।

नगर परिषद लोधीखेडा विकास के क्षेत्र में जिले में अग्रणी माना जाता है। यहा पर नगर के पास से बहने वाली जाम नदी नगर की शोभा को चारचांद लगाता है। जिसके किनारे पर बसा है पूर्ण लोधीखेडा शहर यही जाम नदी के तट पर एक पार्क (उद्यान) भी है जो अयोध्या बस्ती वार्ड क्रमांक 5 में शानदार पार्क है।

यदी वास्तविक रूप से देखा जाये तो लोधीखेडा नगर की सीमा वार्ड क्रमांक 01 भगतसींग से लेकर वार्ड क्रमांक 15 रानीलक्ष्मीबाई तक चारों ओर फैली है। जिसका पूर्ण रूप से विकास कार्य नगर परिषद के द्वारा किया जाता है। लोधीखेडा शहर बहुत ही शांतीप्रीय एवं धार्मीक है। तथा आये दिन यहा पर विभिन्न त्योहारो को नगर की जनता बहुत ही हर्षोल्लास के साथ मनाती है।